29 लड़ाकू विमान होंगे शामिल, झांकियों में चंद्रयान-3 की लैंडिंग और भगवान राम भी दिखेंगे

गणतंत्र दिवस की इस बार की थीम नारी शक्ति है। इसलिए कई वुमन लीडरशिप वाले दल भाग ले रहे हैं, चाहे वह बैंड हो, ट्राई-सर्विस हो, ये पहली बार भाग ले रहा है। ट्राई-सर्विस की टुकड़ी का नेतृत्व भारतीय सेना की कैप्टन शरण्या राव करेंगी। शरण्या ने कहा कि मैं सुपरन्यूमररी ऑफिसर हूं और ट्राई-सर्विस टुकड़ी का नेतृत्व करूंगी। यह गर्व की बात है, क्योंकि इतिहास में पहली बार, एक ट्राई-सर्विस दल मार्च करेगा।

साथ ही 26 जनवरी को होने वाले गणतंत्र दिवस परेड के फ्लाई पास्ट में भारतीय एयरफोर्स के 51 एयरक्राफ्ट शामिल होंगे। इनमें 29 फाइटर प्लेन, सात ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, नौ हेलिकॉप्टर और एक हेरिटेज एयरक्राफ्ट शामिल होगा। इन्हें छह अलग-अलग बेस से ऑपरेट किया जाएगा। गणतंत्र दिवस की परेड के दौरान 16 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों और नौ मंत्रालयों और विभागों की 25 झांकियां शामिल होंगी। इन राज्यों में अरुणाचल प्रदेश, हरियाणा, मणिपुर, मध्य प्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, राजस्थान, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, लद्दाख, तमिलनाडु, गुजरात, मेघालय, झारखंड, उत्तर प्रदेश और तेलंगाना का नाम है।

इनके अलावा गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, एविएशन और जलमार्ग मंत्रालय, संस्कृति मंत्रालय, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो), वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान केंद्र, निर्वाचन आयोग और केंद्रीय लोक निर्माण विभाग मंत्रालय की झांकियां नजर आएंगी। इसरो की झांकी में चंद्रयान-3 सबसे प्रमुख हाई लाइट होगी। इस झांकी में चंद्रयान-3 की लांचिंग, चंद्रमा के साउथ पोल पर उसकी सफल लैंडिंग और चंद्रयान-3 के लैंडिंग प्वाइंट ‘शिव शक्ति प्वाइंट’ को भी दिखाया जाएगा। उत्तर प्रदेश की झांकी में सबसे आगे भगवान राम होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed