केंद्रीय कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा ने किसानों से पांचवें दौर की बातचीत की पेशकश करते हुए उनसे शांतिपूर्ण समाधान निकालने की अपील की है।

सरकार किसानों के हित में इस मुद्दे पर शांतिपूर्ण समाधान चाहती है। अभी तक चार दौर की वार्ता के बावजूद आंदोलन पर अड़े किसानों को केंद्र ने पांचवे दौर की बातचीत के लिए आमंत्रित किया है

कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा ने बुधवार को कहा कि सरकार एमएसपी की मांग, फसल विविधीकरण, पराली एवं पिछले आंदोलन के दौरान किसानों के विरुद्ध दर्ज प्राथमिकी को हटाने जैसे मुद्दों पर बातचीत के लिए राजी है।

सरकार के आग्रह की अनदेखी करते हुए आंदोलित किसान जेसीबी मशीन और ट्रैक्टर-ट्रालियां लेकर दिल्ली की ओर कूच के लिए प्रयासरत हैं। कृषि मंत्री ने प्रदर्शनकारी किसानों से शांति बनाए रखने और समाधान तलाशने के लिए बातचीत में शामिल होने की अपील की है।

उन्होंने किसानों से ही समाधान के लिए सुझाव मांगा है ताकि सर्वसम्मत रास्ता निकल सके। मुंडा ने कहा कि किसान पूरे देश में हैं। नीति बनाते समय पूरे देश के किसानों के हित को ध्यान में रखना जरूरी है। हम आने वाले दिनों में उनकी चिंताओं को दूर करने की दिशा में काम करेंगे।

ईस पुरे मुद्दों पर पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों के लिए कितना काम किया है, यह कई बार बताया जा चुका है ,किसानों का विकास हमारी बहुत बड़ी प्राथमिकता है और रहेगी।

एक दिन पहले प्रदर्शनरत किसानों ने सरकारी एजेंसियों द्वारा पांच साल तक दालें, मक्का और कपास न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीदने के केंद्र के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था और अपना आंदोलन जारी रखने की घोषणा की थी।

Read More….

Loksabha Election 2024: उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बिच गठबंधन फ़ाइनल ,सीट समझौते को अंतिम रूप दिया गया.

Loksabha Election 2024: आम आदमी पार्टी ने दिल्ली लोकसभा की 7 में से 4 सीटों के जिताने के लिए ,केजरीवाल के मंत्रीयो और विधायकों ने लगाया जोर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed