रोहतास के शिवसागर प्रखंड के बड्डी गांव के रहने वाले आकाशदीप का चयन भारतीय क्रिकेट टीम में टेस्ट मैच के लिए हो गया है. उनके चयन होने की सूचना मिलने से जिले में जहां खुशी का माहौल है, वहीं खासकर क्रिकेट से जुड़े खेल प्रेमियों और खिलाड़ियों में उत्साह देखने को मिल रहा है.

सासाराम के इस ग्राउंड से की शुरुआत

दअरसल सासाराम के ग्राउंड में बचपन में आकाशदीप खेला करते थे. वहां आज भी बच्चे प्रेक्टिस करते हैं. आकाशदीप ने पश्चिम बंगाल से क्रिकेट खेला लेकिन उनका जन्म रोहतास जिले के शिवसागर के बड्डी में हुआ है. उन्होंने घरेलू क्रिकेट की शुरुआत बंगाल से की थी और 9 मार्च 2019 को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में बंगाल के लिए अपना 20 -20 डेब्यू किया था. आकाशदीप एक नियमित गेंदबाज रहें हैं, वहीं ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने 29 मैचों में 103 विकेट चटकाए हैं.

जब बिहार क्रिकेट एसोसिएशन को प्रतिबंधित कर दिया गया, तो आकाशदीप बंगाल जाकर खेलने लगे. फिलहाल वो पश्चिम बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन से संबद्ध रखते हैं. उनका चयन भारत-इंग्लैंड के बीच चल रहे मौजूदा पांच मैचों की श्रृंखला के लिए हुआ है. जिसमें तीन मैच अभी भी बाकी है, 15 फरवरी को राजकोट में यह मैच खेला जाना है.

बता दें कि वर्ष 2022 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए आईपीएल में आकाशदीप का चयन हुआ था. आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने इन्हें 20 लाख में खरीदा था. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में आकाशदीप का बेहतर प्रदर्शन रहा है. 23.18 रन की औसत से कुल 103 विकेट उन्होंने अभी तक झटकाएं हैं. वहीं अगर आईपीएल की बात करें तो अभी तक इन्होंने 7 आईपीएल मैच खेले हैं. जिसमें उन्हें 6 विकेट लेने का मौका मिल चुका है. गेंदबाजी के अलावा बल्लेबाजी में भी इन्होंने हाथ आजमाया और फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अब तक 36 छक्के और 27 चौके लगा चुके हैं.

क्रिकेट के लिए छोड़ा घर

बता दें कि 2010 में उन्होंने घर छोड़ने का फैसला किया और बंगाल शिफ्ट हो गए. जहां उनके चाचा ने उनको सपोर्ट किया और क्रिकेटर बनने के लिए प्रेरित किया. ऐसे में आकाशदीप की प्रतिभा और मेहनत आखिरकार रंग लाई. उन्होंने घरेलू क्रिकेट में एक अलग मुकाम हासिल किया है. उन्हें लेकर रोहतास के स्थानीय क्रिकेटर ने कहा कि कितनी खुशी हुई बता पाना मुश्किल है, आकाशदीप जब भी सासाराम आते है तो सभी को क्रिकेट की बारीकियों के बारे में बताना नहीं भूलते हैं.

बता दें कि आकाशदीप एक फास्ट बौलिंग ऑलराउंडर है, जो निचले क्रम में बड़ी शॉट्स के लिए जाने जाते हैं. वहीं रोहतास में जन्मे आकाशदीप को छोटी उम्र से ही क्रिकेट खेलने का शौक था. हालांकि उनको करियर की शुरुआत में कई बाधाओं का सामना करना पड़ा. उनके पिता भी उनके इस सफर में ज्यादा योगदान नहीं दे पाएं क्यूंकि उनका आधे सफर में ही निधन हो गया, बावजूद आकाशदीप ने हिम्मत नहीं हारी और क्रिकेट खेलने नहीं छोड़ा.

स्थानीय क्रिकेटर मोहन का कहना है की वो यहां से चले तो जरूर गए है पर उनको खेलते हुए देखना अच्छा लगता है. उनसे हम सभी को लगातार प्रेरणा मिलती रहती है. जब हम सभी छोटे थे तो इसी फजलगंज के स्टेडियम में साथ खेलते थे. उनकी याद भी बहुत आती है, हमारे जिले व राज्य के लिए बड़े ही गौरव की बात है.

Read More…

XIAOMI 14 Pro Launch Date, Specifications & Price in India: महीने के

राजकोट टेस्ट में सरफराज खान और ध्रुव जुरेल का अंतिम एकादश में शामिल होना तय !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed